• Hindi Vyakaran Sudha Book 6
प्रस्तुत व्याकरण  शृंखला ‘हिंदी व्याकरण सुधा, भाग 1 से 8 (प्राथमिक एवं माध्यमिक कक्षाओं के लिए)’ बच्चों के कोमल हृदय व उनके प्रारंभिक ज्ञान को ध्यान में रखते हुए सरल एवं सहज रूप में हिंदी व्याकरण को उनके पास लाने का एक प्रयास है।
अध्यापन पेशे से जुड़ी होने के कारण मैं हमेशा से व्याकरण की एक ऐसी पुस्तक की आवश्यकता को अनुभव करती थी, जो बच्चों के लिए उपयुक्त, सुग्राह्य एवं सहायक हो। अतएव अपने अध्यापकीय अनुभव को एक व्यवस्थित स्वरूप देकर इसे आपके समक्ष प्रस्तुत किया है।
यह पुस्तक  शृंखला एन-सी-ई-आर-टी-, नई दिल्ली द्वारा प्रतिपादित राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा (N.C.F) के पूर्णतया अनुकूल है तथा अन्य राज्यों के शैक्षिक बोर्ड़ों की संस्तुतियों एवं आवश्यकताओं पर भी खरी उतरती है।

प्रस्तुत पुस्तक-शंृखला की विशेषताएँ इस प्रकार हैं

  • व्याकरण के व्यावहारिक ज्ञान पर विशेष बल दिया गया है और इसके लिए विश्लेषण को बोझिल न बनाकर इसकी मूल रचना के तत्वों का संज्ञानात्मक अनुप्रयोग सिखाया गया है।
  • भाषा, व्याकरण, वर्णमाला, शब्द, उनके भेद एवं शब्द-भंडार आदि सभी पाठ बच्चों की आवश्यकता, योग्यता एवं ग्रहण-क्षमता के अनुसार प्रस्तुत किए गए हैं।
  • दैनंदिन जीवन से संबद्ध अनेक उदाहरणों का सचित्र प्रस्तुतीकरण ज्ञान को सरल एवं सुबोध बनाता है। इसे ध्यान में रखते हुए  शंृखला की प्रस्तुति बच्चों को रटने के स्थान पर स्वतः समझने के लिए प्रोत्साहित करेगी।
  • सामान्यतः यह देखा जाता है कि बच्चे हिंदी लेखन से दूर भागते हैं जिसके कारण उनकी रचनात्मकता व कल्पनाशक्ति की उड़ान को सही रूप नहीं मिल पाता और अभिव्यक्ति में व्यवधान आ जाता है। इसमें रचना तत्वों की मूलभूत संकल्पनाओं को चित्र-वर्णन, संवाद-लेखन, वाक्य-लेखन, अनुच्छेद-लेखन, पत्र-लेखन इत्यादि के रूप में सहजता से सँजोया गया है। यह प्रयास बच्चों में रचनात्मक व अभिव्यक्ति कौशल को बढ़ाने में सहायक सिद्ध होगा।
  • गतिविधियों जानिए, खेल-खेल में, हमने सीखा के माध्यम से ज्ञानवर्धक तथ्यों की प्रस्तुति के साथ रोचकता बनाए रखने का प्रयास भी किया गया है।
  •  शृंखला में व्याकरण की अवधारणाओं के सहज प्रकटीकरण के लिए अभ्यासों को वर्कशीट के रूप में पिरोया गया है। इनका अभ्यास करते हुए बच्चे संबद्ध पाठ को समग्र रूप में समझ सकेंगे तथा उनका अनुशीलन कर सकेंगे।
  • हिंदीभाषी क्षेत्रें के साथ-साथ अहिंदीभाषी क्षेत्रें के विद्यार्थियों के लिए भी यह  शंृखला उपयोगी सिद्ध होगी।
  • प्रस्तुत पुस्तक-शंृखला के साथ अध्यापक-पुस्तिकाएँ भी उपलब्ध हैं जो शिक्षक-शिक्षिकाओं के लिए सहायक रहेंगी।
आशा है कि इस पुस्तक के माध्यम से आज के आधुनिक युग में हमारे बच्चे अधिगम के विभिन्न सोपानों पर चढ़ते हुए अपनी संप्रेषण क्षमता को प्रभावशाली, अपने ज्ञान को अधिक वृहद् व व्यावहारिक बनाकर अपनी इस अर्जित पूँजी को कार्यक्षम बनाकर भाषा के मर्म को सार्थक कर सकेंगे।

Write a review

Note: HTML is not translated!
    Bad           Good

Hindi Vyakaran Sudha Book 6

  • ₹305.00
  • ₹290.00